Wednesday , 24 April 2019

Home » व्यापार » आगामी शादी के सीजन में सोने में तेजी के रुझान

आगामी शादी के सीजन में सोने में तेजी के रुझान

मुंबई, 14 अप्रैल (आईएएनएस)। अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव और ब्रेक्सिट पर अनिश्चतता के बादल के साथ-साथ वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती के संकेत से सुरक्षित निवेश के प्रति निवेशकों का रुझान बना रह सकता है। ऐसे में सोना सुरक्षित निवेश का एक परंपरागत साधन है।

मुंबई, 14 अप्रैल (आईएएनएस)। अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव और ब्रेक्सिट पर अनिश्चतता के बादल के साथ-साथ वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती के संकेत से सुरक्षित निवेश के प्रति निवेशकों का रुझान बना रह सकता है। ऐसे में सोना सुरक्षित निवेश का एक परंपरागत साधन है।

बाजार के जानकार बताते हैं कि आगामी शादी के सीजन में देश में सोने की मांग में तेजी बनी रहेगी।

कार्वी कमोडिटीज के विनोद जयकुमार ने कहा, “अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष द्वारा वैश्विक अर्थव्यवस्था के विकास दर अनुमान को हाल में 3.7 फीसदी से घटाकर 3.5 फीसदी किए जाने से पीली धातु और अन्य जोखिम वाली निवेश परिसंपत्तियों में निवेशकों का रुझान बना रहेगा। साथ ही, शादी का सीजन शुरू होने से हाजिर मांग बढ़ेगी।”

एजेंल ब्रोकिंग के प्रथमेश माल्या ने आईएएनएस को बताया कि भारत में आमतौर पर सोने की मांग खपत के लिए होती है न कि रिटर्न के लिए।

दरअसल, भारत में सोने की जेवराती मांग ज्यादा है और निवेश मांग कम रहती है।

इस साल सोने में जोरदार तेजी देखने को मिली है, जिसका कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती रही है।

एसएमसी ग्लोबल सिक्योरिटीज की वंदना भारती ने कहा, “सोने की कीमतों में पहले से ही तेजी बनी हुई है और आगे मजबूती के रुझान से कीमतों को सपोर्ट मिलेगा।”

बाजार विश्लेषकों के अनुसार, सोने में तेजी का प्रमुख कारण अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व का नरम रुख है।

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज-एमसीएक्स- पर सोने का जून एक्सपायरी अनुबंध बीते सप्ताह के आखिरी कारोबारी सत्र में शुक्रवार को पिछले सत्र के मुकाबले 109 रुपये की बढ़त के साथ 31,859 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा।

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार कॉमेक्स पर सोने का जून अनुबंध शुक्रवार को पिछले सत्र के मुकाबले 0.03 फीसदी की तेजी के साथ 1,293.65 डॉलर प्रति औंस बंद हुआ।

आगामी शादी के सीजन में सोने में तेजी के रुझान Reviewed by on . मुंबई, 14 अप्रैल (आईएएनएस)। अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव और ब्रेक्सिट पर अनिश्चतता के बादल के साथ-साथ वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती के संकेत से सुरक्ष मुंबई, 14 अप्रैल (आईएएनएस)। अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव और ब्रेक्सिट पर अनिश्चतता के बादल के साथ-साथ वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती के संकेत से सुरक्ष Rating:
scroll to top