Wednesday , 24 April 2019

Home » व्यापार » तकनीक अपनाकर छोटे होटल कारोबारी बन रहे सफल उद्यमी

तकनीक अपनाकर छोटे होटल कारोबारी बन रहे सफल उद्यमी

नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)। कभी गुड़गांव (अब गुरुग्राम) के एक होटल में काम करने वाले रोहित मिश्रा इस समय 16 होटल के मालिक हैं और यह तरक्की पिछले कुछ साल में ही तकनीक को अपनाकर हासिल की है।

वर्ष 2015 में रोहित ने अपनी दो संपत्तियों को ओयो के साथ संबद्ध करते हुए कारोबार की शुरुआत की थी। आतिथ्य सेवा क्षेत्र के प्रति उनके जुनून और ओयो के निरंतर समर्थन एवं मार्गदर्शन के साथ उन्होंने 2016 में 10 होटल खोले और अब उनके होटलों की कुल संख्या 16 हो चुकी है।

मिश्रा बताते हैं कि उनकी इस तरक्की के पीछे आतिथ्य सेवा क्षेत्र की कंपनी ओयो का योगदान है।

ओयो की सेवा व आइडिया का लाभ उठाने वाले रोहित मिश्रा सिर्फ अकेले कारोबारी नहीं हैं, बल्कि इस क्षेत्र के अनेक नवोदित छोटे कारोबारियों के लिए ओयो की सेवा वरदान साबित हुई है।

भारतीय यूनिकॉर्न ओयो होटल एंड होम्स ग्राहकों, होटल कारोबारियों और परिसंपत्ति मालिकों के सामने आने वाली चुनौतियों की पहचान करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है और उन्हें एकीकृत प्रौद्योगिकी के माध्यम से समाधान मुहैया करा रही है। इससे आतिथ्य सेवा क्षेत्र में एक बड़ा बदलाव आया है।

सिविल ब्रांच में डिप्लोमा होल्डर रोहित की 2010 में उनके करियर की शुरुआत में होटल कारोबार में दिलचस्पी बढ़ी लेकिन उनको आतिथ्य सेवा व होटल प्रबंधन क्षेत्र कोई अनुभव नहीं था। इसलिए उन्होंने इस क्षेत्र के विभिन्न विभागों में काम किया।

रोहित ने कहा, “ओयो ने इनवेंटरी, अतिथि अनुभव और विपणन के प्रबंधन में हमें काफी मदद की और समर्थन दिया। वर्तमान में मेरे 16 होटल ओयो से संबद्ध हैं। इसके अलावा 4 अन्य संपत्तियां पाइपलाइन में हैं जो निर्माणाधीन हैं। इनमें से कुछ महंगी श्रेणी की भी हैं। मैं उन्हें ओयो से संबद्ध करने के लिए पहले से ही बातचीत कर रहा हूं।”

अनूप शेट्ठी भी होटल कारोबारी हैं, जिन्होंने 2016 में ओयो के संपर्क में आने के बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा है।

अनूप ने कहा, “मैंने सुना कि ओयो संपत्ति के उपयोग में मदद कर रही थी और ग्राहकों को पूर्ण आतिथ्य सेवा अनुभव प्रदान करने के लिए उसमें बदलाव कर रही थी। ओयो के साथ हमारा संबंध काफी बेहतर है जहां हम दोनों एक-दूसरे से लाभान्वित होते हैं।

उन्होंने कहा, “ओयो की बंबई टीम को शुक्रिया जो मुझे समय पर भुगतान की प्राथमिकता के साथ वर्षो से अच्छा कारोबार दे रही है। दो अन्य संपत्तियों के लिए ओयो के साथ समझौते पर पहले ही हस्ताक्षर किए जा चुके हैं। इनमें एक संपत्ति अंधेरी में है जबकि दूसरी नई मुंबई में।”

पंकज अग्रवाल, अमित बिजोरिया और अभिषेक चोखानी का साझा कारोबार है इन तीनों दोस्तों को साथ मिलकर होटल कारोबार शुरू करने का विचार आया और अब उन्होंने ओयो की मदद से अपने होटलों को कैपिटल ‘ओ’ श्रेणी में पहुंचा दिया।

अमित ने कहा, “हमने एल्गिन में ओरियन वेस्ट विलोज नाम से एक होटल खोला जिसका कारोबार काफी अच्छा है। हमारा दूसरा होटल न्यू टाउन के राजरहाट में वेस्ट विलोज है जो पिछले 6 महीने से असाधारण प्रदर्शन कर रहा है। इसके अलावा दो अन्य संपत्तियां पाइपलाइन में हैं जो फिलहाल निर्माणाधीन हैं। हम उम्मीद करते हैं कि भविष्य में हम ओयो के साथ शानदार कारोबार करते रहेंगे।”

राहुल कौशल पंजाब के लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी से बीटेक हैं और वह पिछले सात साल से आतिथ्य सेवा क्षेत्र में हैं। राहुल कई संपत्तियों का प्रबंधन करते हैं जिनमें से पांच संपत्तियां ओयो के साथ सूचीबद्ध हैं। जबकि अन्य संपत्तियों का प्रबंधन वह खुद करते हैं।

तकनीक अपनाकर छोटे होटल कारोबारी बन रहे सफल उद्यमी Reviewed by on . नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)। कभी गुड़गांव (अब गुरुग्राम) के एक होटल में काम करने वाले रोहित मिश्रा इस समय 16 होटल के मालिक हैं और यह तरक्की पिछले कुछ साल में नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)। कभी गुड़गांव (अब गुरुग्राम) के एक होटल में काम करने वाले रोहित मिश्रा इस समय 16 होटल के मालिक हैं और यह तरक्की पिछले कुछ साल में Rating:
scroll to top