Tuesday , 16 January 2018

Home » भारत » मप्र : छात्रा आत्महत्या मामले में मानवाधिकार आयोग ने मांगी रिपोर्ट

मप्र : छात्रा आत्महत्या मामले में मानवाधिकार आयोग ने मांगी रिपोर्ट

भोपाल, 3 जनवरी (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में विद्यालय से निकाले जाने पर एक छात्रा द्वारा आत्महत्या करने के मामले को मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने गंभीरता से लेते हुए शिक्षाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से रिपोर्ट मांगी है।

भोपाल, 3 जनवरी (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में विद्यालय से निकाले जाने पर एक छात्रा द्वारा आत्महत्या करने के मामले को मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने गंभीरता से लेते हुए शिक्षाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से रिपोर्ट मांगी है।

आयोग की ओर से बुधवार को दी गई जानकारी के अनुसार, पिछले दिनों ग्वालियर शहर के माधवगंज क्षेत्र में रहने वाली छात्रा काजल ने स्कूल से निकाले जाने पर आत्महत्या कर ली थी। यह मामला गंभीर है। आयोग ने इस सिलसिले में जिला शिक्षा अधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ग्वालियर से 15 दिनों के भीतर रिपोर्ट तलब करते हुए पूछा है कि क्या आत्महत्या की जो बात सामने आ रही है, वह सही है।

आयोग ने बैतूल जिले के सांईखेड़ा क्षेत्र में रात में शौच के लिए बाहर गई युवती के साथ राजेश काकोड़िया एवं बलराम धुर्वे द्वारा दुष्कर्म के कारण आत्महत्या के मामले पर भी संज्ञान लिया है।

आयोग ने इस सिलसिले में बैतूल जिलाधिकारी से प्रतिवेदन तलब करते हुए पूछा है कि मृतका के घर में शौचालय का निर्माण क्यों पूरा नहीं हुआ था। मजबूरी में युवती बाहर शौच के लिए गई जहां उसके साथ दुष्कर्म की घटना घटी।

आयोग के संज्ञान में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। मंदसौर के एक स्कूल में सहायक शिक्षक महेन्द्र कुमार जैन द्वारा छात्रों के पढ़ाने के लिए कहने पर उन्हें बाथरूम में बंद कर प्रताड़ित करने के मामले पर आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग ने इस सिलसिले में जिला शिक्षा अधिकारी मंदसौर से प्रतिवेदन तलब किया है।

मप्र : छात्रा आत्महत्या मामले में मानवाधिकार आयोग ने मांगी रिपोर्ट Reviewed by on . भोपाल, 3 जनवरी (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में विद्यालय से निकाले जाने पर एक छात्रा द्वारा आत्महत्या करने के मामले को मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने गंभी भोपाल, 3 जनवरी (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में विद्यालय से निकाले जाने पर एक छात्रा द्वारा आत्महत्या करने के मामले को मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने गंभी Rating:
scroll to top