सम्पादकीय | dharmpath.com | Page 2

Sunday , 19 August 2018

सम्पादकीय

Feed Subscription

Editorial

रिसता बलूचिस्तान : पाकिस्तान से मुक्त होने की चाहत का दूसरा नाम

रिसता बलूचिस्तान : पाकिस्तान से मुक्त होने की चाहत का दूसरा नाम

 स्वतंत्रता दिवस के अपने भाषण के अंत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई एक सामान्य टिप्पणी ने पाकिस्तान के रिसते बलूचिस्तान के घाव को सबके सामने लाकर रख दिया। भारत लंबे सम ...

Read More »
बिलखती आजादी का स्वच्छंद परिंदा.. (15 अगस्त पर विशेष)

बिलखती आजादी का स्वच्छंद परिंदा.. (15 अगस्त पर विशेष)

प्रभुनाथ शुक्ल 15 अगस्त, 2016 को हम आजादी की 70वीं सालगिरह मानाने जा रहे हैं, लेकिन हमें एक बात बार-बार कचोटती है कि हमने अपनी आजादी के साथ न्याय नहीं किया। हम उसे सहेज नहीं पाए, ...

Read More »
“पत्रिका” ने उठायी आवाज भारत में मीडिया दमन के विरोध में

“पत्रिका” ने उठायी आवाज भारत में मीडिया दमन के विरोध में

पत्रिका अखबार लिखता है, लोकतंत्र के चौथे स्तंभ कहे जाने वाली मीडिया के साथ सरकार का नकारात्मक रवैया कैसा रहता है इसका अंदाज़ा राजस्थान पत्रिका से बेहतर कौन जा सकता है। सामाजिक सरोक ...

Read More »
क्या आतंकवाद मुक्त विश्व का आगाज होगा इस ईद पर ?(विशेष सम्पादकीय)

क्या आतंकवाद मुक्त विश्व का आगाज होगा इस ईद पर ?(विशेष सम्पादकीय)

दादी की उंगलिया ना जलें रोटियां बनाते वक्त इसलिए वह नन्हा बालक ईद के मेले में अपने लिए मिठाई या खिलोने की जगह लोहे का चिमटा लाता है ताकि उसकी दादी अमीना की उँगलियाँ ना जलें.बाजार ...

Read More »
भारतीय संस्कृति में नारी कल, आज और कल

भारतीय संस्कृति में नारी कल, आज और कल

‘नारी’ इस शब्द में इतनी ऊर्जा है कि इसका उच्चारण ही मन-मस्तक को झंकृत कर देता है, इसके पर्यायी शब्द स्त्री, भामिनी, कान्ता आदि है, इसका पूर्ण स्वरूप मातृत्व में विलसित होता है। ना ...

Read More »
सत्ताधारी दल को उल्टा पड़ा देशभक्ति का दांव

सत्ताधारी दल को उल्टा पड़ा देशभक्ति का दांव

अमूल्या गांगुली जिस तरह से भाजपा बलपूर्वक राष्ट्रवाद का राग अलाप रही थी उसे देखते हुए पटियाला हाऊस कोर्ट में उनके समर्थक वकीलों को गुंडागर्दी पर उतरना अवश्यम्भावी था, जहां जवाहरला ...

Read More »
क्या है अघोर?-जानिये,सतर्क रहिये सिंहस्थ में पाखंडियों से

क्या है अघोर?-जानिये,सतर्क रहिये सिंहस्थ में पाखंडियों से

 अनिल सिंह की कलम से -मो.-9039130023 सिंहस्थ समागम का समय नजदीक है,साधू-संतों के डेरे उज्जैन में दस्तक देने लगे हैं .कई बड़ी पदवियों से मंडित हैं ,कुछ गुमनाम हैं,कई सच्चे,कुछ साधू ...

Read More »
बिहार में वामपंथ की दस्तक

बिहार में वामपंथ की दस्तक

बिहार विधानसभा का इस बार का चुनाव सामान्य चुनाव नहीं था। भाजपा को दिल्ली विधानसभा चुनाव में बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा था। इसलिए नरेन्द्र मोदी सरकार की प्रतिष्ठा दांव पर लगी ...

Read More »
बिहार चुनाव परिणाम का मध्यप्रदेश की राजनीति पर क्या प्रभाव पड़ेगा ?

बिहार चुनाव परिणाम का मध्यप्रदेश की राजनीति पर क्या प्रभाव पड़ेगा ?

 सत्येन्द्र खरे (स्वतंत्र पत्रकार ) 2014 में लोकसभा चुनाव के बाद राजनेतिक हलको में यही माना जाता रहा  की बिहार ही पहला राज्य बनेगा  जहाँ के चुनाव परिणाम यह तय करेंगे की देश की राज ...

Read More »
नरेंद्र मोदी के प्रति जनता का विश्वास लाया सत्ता में – अविश्वास ने हराया बिहार

नरेंद्र मोदी के प्रति जनता का विश्वास लाया सत्ता में – अविश्वास ने हराया बिहार

लेकिन पद पर बैठते ही मोदी जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी भूल कर कुछ मददगार व्यापारियों के साथ बोईंग विमान में उड़ने लगे.मोदी को जो आम जन की परेशानियों की चिंता प्रथम करनी थी उसकी जग ...

Read More »
scroll to top