Thursday , 23 November 2017

Home » धर्म-अध्यात्म » उज्जैन में आस्था की कीमत -तीस हजार रुपये में भैरवी साधना,ग्यारह हजार में नवरात्र

उज्जैन में आस्था की कीमत -तीस हजार रुपये में भैरवी साधना,ग्यारह हजार में नवरात्र

September 6, 2017 9:41 pm by: Category: धर्म-अध्यात्म Comments Off A+ / A-

उज्जैन-21 सितम्बर से नवरात्र आरम्भ हो रहे हैं आस्था एवं शक्ति उपासना के इस पर्व का मर्म न जानने वाले वेशधारी साधक जो भी करेंगे वह मजाक बन कर रह जाता है .उज्जैन में अपने आप को तंत्र-साधक की पदवी से विभूषित कर महिमामंडित करने वाले महाकाल तिलकधारी ने इस हजारी तंत्र साधना पैकेज का आह्वान किया है.इस पैकेज में वे नवरात्र साधना एवं विशेष भैरवी साधना करवाएंगे.

हमने इस आयोजन को ले कर महाकाल तिलकधारी से बात की एवं साधना पक्ष तथा उनके जीवन के बारे में कुछ सवाल किये ,प्रस्तुत है चर्चा के कुछ बिंदु –

1.11000 रूपये में नौ दिनों की पूजा होगी जिसमें सामग्री एवं भोजन का खर्च शामिल है.

2.33000 रुपये में भैरवी साधना करवाई जायेगी इस साधना में एक बार शिविर में प्रवेश के बाद 9 दिन बाहर नहीं निकलने दिया जाएगा .

3.भैरवी साधना में स्त्री शामिल नहीं होगी कैसे करवाई जायेगी साधना के प्रश्न का जवाब नहीं दे पाए महाकाल तिलकधारी.

4.ये गृहस्थ हैं एवं अपनी पूर्व पत्नी एवं बच्चों को छोड़ नेपाल की एक साधिका को अपनी पत्नी होने का एवं भैरवी होने का दावा करते हैं .

5.साधकों से स्टाम्प पेपर पर लिखवा हस्ताक्षर करवाया जाएगा की वे साधना पूर्ण होने तक साधना स्थल से बाहर नहीं आयेंगे.

6.अभी तक क्या तैयारियां हुईं एवं कितने लोगों ने पंजीयन करवाया की जानकारी नहीं दे सके महाकाल तिलकधारी.

7.भुगतान शुल्क की रसीद नहीं दी जायेगी एवं जीएसटी भी इस पर लागू नहीं होगा.

महाकाल तिलकधारी बाबा ने बताया की 3 दिसंबर को मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बडवानी में आयोजित इनके कार्यक्रम में शामिल होंगे.

उज्जैन में आस्था की कीमत -तीस हजार रुपये में भैरवी साधना,ग्यारह हजार में नवरात्र Reviewed by on . उज्जैन-21 सितम्बर से नवरात्र आरम्भ हो रहे हैं आस्था एवं शक्ति उपासना के इस पर्व का मर्म न जानने वाले वेशधारी साधक जो भी करेंगे वह मजाक बन कर रह जाता है .उज्जैन उज्जैन-21 सितम्बर से नवरात्र आरम्भ हो रहे हैं आस्था एवं शक्ति उपासना के इस पर्व का मर्म न जानने वाले वेशधारी साधक जो भी करेंगे वह मजाक बन कर रह जाता है .उज्जैन Rating: 0
scroll to top